***Khwab…***

Khwab dekha tha tere honthon pe muskaan lane ka, khwab dekha tha tere sang zindagi bitane ka, khwab dekha tha tujh par duniyabhar ki khushiyan lutane ka, khwab dekha tha tujhe apna banane ka, khwab dekha tha tere khwabon me ane ka, par waqt ki aandhi ne har khwab ujaad diya, aur waqt bhi na […]

सुनो ना!!

“सुनो ना!! मुझे भूख लगी है चलो कुछ खाने चलते हैं।” उसने मेरी तरफ पलट कर बोला। मैं हमेशा की तरह उसके साथ वाली कुर्सी पर बैठा था। “अभी अभी तो आया हूँ, कुछ देर रुको फिर चलते हैं।” मैंने अपने फ़ोन की तरफ देखते हुए कहा। “चलो ना। फिर वापस आकर मुझे काम करना […]